सोचना तो पड़ेगा ही - पीयूष गोयल

 

सोचना तो पड़ेगा ही - पीयूष गोयल



सोचना तो पड़ेगा ही - पीयूष गोयल,पीयूष गोयल के बारे में,"सोचना तो पड़ेगा ही" पुस्तक के बारे में,20 थॉट्स



पीयूष गोयल के बारे में......

सोचना तो पड़ेगा ही - पीयूष गोयल,पीयूष गोयल के बारे में,"सोचना तो पड़ेगा ही" पुस्तक के बारे में,20 थॉट्स


आज हम एक ऐसी किताब के बारे में जानने जा रहे हैं जिसे हर व्यक्ति को अपने जीवन में पढ़ना चाहिए। आपको उस किताब के नाम "सोचना तो पड़ेगा ही" किताब से पहले हम इस किताब को लिखने वाले शख्स यानी पीयूष गोयल के बारे में जानने वाले हैं. 

पीयूष गोयल अपने जीवन में बहुत सफल हैं और वे अपनी पुस्तक के माध्यम से सफल होने के कुछ रहस्य और नियम बताते हैं। इसलिए आपको वह किताब जरूर पढ़नी चाहिए। पियूष गोयल ये एक बोहोत ही अच्छे मिरर राइटर भी है। 

पीयूष गोयल दर्पण छवि के लेखक पीयूष गोयल 16 पुस्तकें दर्पण छवि में लिख चुके हैं,सबसे पहली पुस्तक( ग्रन्थ) "श्री भगवद्गीता"के सभी 18 अध्याय 700 श्लोक हिंदी व् इंग्लिश दोनों भाषाओं में लिखा हैं इसके अलावा पीयूष ने हरिवंश राय बच्चन जी द्वारा लिखित पुस्तक "मधुशाला"को सुई से लिखा हैं ,और ये दुनिया की पहली पुस्तक हैं जो सुई से व् दर्पण छवि में लिखी गई हैं इसके बाद रबीन्द्रनाथ टैगोर जी की पुस्तक "गीतांजलि"( जिसके लिए रबीन्द्रनाथ टैगोर जी को सन 1913 में साहित्य का नोबेल पुरस्कार मिला था) को मेहंदी कोन से लिखा हैं.

पीयूष ने विष्णु शर्मा जी की पुस्तक "पंचतंत्र"को कार्बन पेपर से लिखा .अटल जी की पुस्तक "मेरी इक्यावन कवितायेँ"को मैजिक शीट पर लकड़ी के पैन से लिखा और अपनी लिखित पुस्तक "पीयूष वाणी" को फैब्रिक कोन लाइनर से लिखा हैं सं 2003 से 2015 तक 16 पुस्तके लिख चुके हैं.


ये जरूर पढ़े : किसी भी एक काम को 6 महीने दो। 


"सोचना तो पड़ेगा ही" पुस्तक के बारे में। 

"सोचना तो पड़ेगा ही" ये पुस्तक हर उस इंसान को पढ़ना चाहिए जो अपनी जिंदगी में सफल होना चाहते है। ये पुस्तक आपको हर वक़्त मोटीवेट रखेगा। इस पुस्तक में कुल 110 थॉट्स है उसमेसे में आपको इस आर्टिकल में 20 थॉट्स बताने जा रहा हु जो आपको पढ़ने चाहिए। 

पियूष गोयल ने बोहोत ही अच्छे तरीके से लोगोको बताया है की अपने काम के प्रति सेल्फ मोटीवेट कैसे रहे।  


ये भी पढ़े : जिंदगी में सफल होना चाहते हो तो ये तीन चीज ध्यान रखें

20 थॉट्स -

1.जिंदगी को अगर किसी का सहारा लेकर जिओगे एक दिन हारा हुआ महसूस करोगे.   

2.किसी काम की करने की नियत होनी चाहिए टालने से काम नहीं चलने वाला.                  

3.आपके सपनो में बहुत के सपने छिपे हैं ...अपने  सपने पुरे करो. 

4.सोचना मेरी आदत...लगन मेरा समर्पण....जिद्द मेरी सफलता

5.जिनकी नींव मजबूत उनकी विन(win) निश्चित हैं            

6.मेरे लिए आलोचना करना चना चबाने जैसा हैं             

7.चुनौतियों की चिंता न करो चिंतन करो चुनौतियां हर समय किसी न किसी रूप में आपके साथ चल रही हैं          

8.उतनी इच्छायें पालो जीतनी पा लो                                     

9.जो संघर्ष करते हैं वो जानते हैं मेहनत का कोई विकल्प नहीं हैं. 

10.अगर आपके कदम में दम हैं आपका कद कभी छोटा नहीं होगा क(दम)... (कद)म.          

11.जिंदगी में सीखने का मौका जहाँ भी मिले अवश्य सीख लो पता नहीं कहाँ काम आ जाये और साथ साथ साझा भी करते चलो पता नहीं कब किसके काम आ जायें.

12.जो कामयाबी बहुत प्रयासों के बाद मिलती हैं उसका एहसास अतुलनीय हैं.                      

13.हर काम पहले मुश्किल दिखता हैं पर होता नहीं 

14.लगातार प्रयास करना मेरा काम हैं और मैं प्रयास करता रहूँगा जब तक मैं कामयाब न हो जाऊं.   

15.कुछ नहीं करना बस जिंदगी की तराजू को बराबर तोलते चलो.

16.लालसा काम लगन पक्की लक्ष्य एक.                    

17.अपनी काबिलियत को पहचानो समझौता नहीं.    

18.घडी की जो टिक टिक हैं यूँ ही नहीं हैं वो बार बार टोकती हैं खड़ा हो जा अभी बहुत कुछ हैं करने के लिए. 

19. सच को कुछ समय के लिए ढक सकते हो छुपा नहीं सकते. 

20.पढ़ लो.... लिख लो.... याद कर लो नहीं तो ...पीछे मुड़ मुड़ कर देखना पड़ेगा.


Buy a book





एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ